Sunday, December 8, 2019

नवंबर 2019 में पढ़ी गई किताबें

नवम्बर में पढ़ी गयी किताबें

दिसंबर के आने के साथ इस साल की समाप्ति का वक्त भी नज़दीक आ रहा है। नवंबर था तो एक महीने का वक्त था लेकिन वह कब गुजर गया पता ही नहीं चला।

मौसम में हल्की सी ठंडक का अहसास होने लगा है। लेकिन मेरा अभी तक ठंडे पानी से नहाना बादस्तूर जारी है। उम्मीद है पूरे दिसंबर मैं ऐसे ही नहाया करूँगा। लाइफ में बाकी सब सही चल रहा है। पिछले महीने कुछ किताबें तो पढ़ी ही लेकिन छोटी मोटी घुम्मकड़ी (साहित्य आजतक 1, साहित्य आजतक 2, जी डी एस फोटो वाक, सेवन वंडर्स पार्क) को भी अंजाम दिया। यानी अपने दोनों शौकों को पूरा करने की कोशिश की। घुमक्क्ड़ी की बातें दूसरे ब्लॉग में करूँगा क्योंकि इस वक्त इस ब्लॉग के ऊपर मेरे पास करने के लिए काफी बातें हैं।

लेकिन उन सबसे पहले मैं आपको दिखा देता हूँ नवम्बर 2019 (What did i read in the november of 2019) में मैंने क्या क्या पढ़ा?

नवंबर में पढ़ी रचनाओं की सूची:

  1. The Affair Of Hideous Vase by B T Live
  2. फिफ्टी-फिफ्टी  - सुरेन्द्र मोहन पाठक
  3. गवाह नम्बर तीन -  बिमल मित्र
  4. The Book Case - Nelson DeMille
  5. कुछ नहीं - मनमोहन भाटिया
  6. Odd Tales and Other Stories by L.E. Perez
  7. सारे जहाँ से ऊँचा
  8. एक हसीन कत्ल - मोहन मौर्य
  9. Bijili by Sharath Komarraju
  10. The boy who played Rama - Sharath Komarraju
  11. Finder's Fee - Joshu Viola
आप इन रचनाओं के विषय में मेरे विचार रचनाओं के नाम पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं। 

अब आते हैं ब्लॉग से जुड़ी कुछ अन्य बातों के ऊपर। नवंबर में मैंने ब्लॉग पर कुछ नई शुरुआत की है। 

हली नई चीज आप लोगों के समक्ष किताबों की दुनिया से ताल्लुक रखते लोगों का साक्षात्कार प्रस्तुत करना है। इस क्रम में मैंने आप लोगों के समक्ष दो पुस्तकों के लेखक श्री आनंद कुमार सिंह जी का साक्षात्कार प्रस्तुत किया। 



आगे और भी इस तरह के साक्षात्कार आपके समक्ष प्रस्तुत करते रहूँगा। 

दूसरी नई चीज जो मैं शुरू करने जा रहा हूँ वह है किताबों का प्रमोशनल पोस्ट के लिए अपने ब्लॉग पर जगह देना। यह मैं दो तरह से करूँगा। 
  1. लेखक अपनी पुस्तक का कवर का लोकार्पण मेरे ब्लॉग पर कर सकता है। इसके तहत लेखक की जानकारी, किताब का आवरण चित्र और किताब की जानकारी को मैं अपने ब्लॉग पर दिखाऊँगा। उदाहरण के लिए जैसे मैंने
    निम्न  उपन्यास के लिए किया था।

    The Mahasiddha Field by Dwai Lahiri: Cover Reveal

    यह काम मैं किसी भी शैली (genre) की किताब के लिए फिलहाल कर लूँगा।
  2. इसके आलावा अगर आप ब्लॉग पर अपनी किताब का कुछ अंश प्रकाशित करना चाहते हैं जिससे आपके पाठक आपकी किताब के विषय में जान सकें तो उसके लिए भी ब्लॉग पर मैं स्थान दूँगा। एक पोस्ट होगी जिसमें पुस्तक का कोई दो तीन सौ शब्दों का ऐसा अंश होगा जो कि आपके(लेखक या जो प्रमोशन करना चाहते हैं) अनुसार पाठक में उपन्यास के प्रति रूचि पैदा करे। इसके साथ ही उस लेख में लेखक की जानकरी और किताब की जानकारी भी लगाई जाएगी। उपन्यास अंश अभी मैं केवल कुछ शैलियों के उपन्यासों के लिए लगा रहा हूँ: अपराध, फंतासी, विज्ञान गल्प, यात्रा वृत्तांत और हॉरर। अगर आपकी लिखी कृतियाँ इन चारों में से किसी एक शैली की हैं तो आप ऊपर दी हुई जानकारी मुझे मेल कर दें। मैं उसे अपने ब्लॉग में शामिल कर दूँगा। 
हाँ इधर मैं साफ कर दूँ प्रोमोशनल पोस्ट मैं महीने में चार-छः ही करूँगा। अगर अत्यधिक पोस्ट आई तो उन्हें जिस क्रम में मुझे वो मिली उसी क्रम में आगे के महीनों लगाता रहूँगा।  इन पोस्टस का मकसद हिन्दी या अंग्रेजी साहित्य का प्रचार और प्रसार ही होगा। 

उम्मीद है ब्लॉग में होने वाले यह बदलाव आपको पसंद आएंगे और आप पाठक के रूप में इसका स्वागत करेंगे। अपने  विचारों से मुझे जरूर अवगत करवाइयेगा। 

मैंने दिसंबर में फिलहाल बोगेंनविलिया की टहनी नामक उपन्यास पढ़ा है। फिलहाल राम गोपाल वर्मा द्वारा लिखी किताब गन्स एंड थाइस पढ़ रहा हूँ और साथ में राज भारती की किताब लाल घाट का प्रेत, और मीनाक्षी चौधरी जी का कहानी संग्रह घोस्ट स्टोरीज ऑफ़ शिमला हिल्स पढ़ रहा हूँ। 

आप लोगों का नवम्बर कैसा बीता? आपने क्या क्या पढ़ा? आप लोगों ने दिसंबर में क्या क्या पढ़ लिया है? फ़िलहाल क्या पढ़ रहे हैं?

जरूर बताइयेगा। 

© विकास नैनवाल 'अंजान'

9 comments:

  1. आपके ब्लॉग पर काफी रोचक मिलता है। मैं यहां बहुत सी किताबों की समीक्षा पढने के पश्चात किताब पढने को प्रेरित होता हूँ।
    लेखक का साक्षात्कार यहाँ पहले पढ चुका हूँ, रोचक लगा। इस साक्षात्कार को 'साहित्य देश' ब्लॉग पर प्रकाशन की अनुमति चाहिए।
    -गुरप्रीत सिंह
    धन्यवाद।

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी साहित्य जगत भी इन्टरनेट पर ही है और मेरा ब्लॉग भी इन्टरनेट पर ही है तो एक ही साक्षात्कार दो जगह इन्टरनेट में प्रकाशित करने का कोई औचित्य मुझे नहीं दिखाई देता।

      इससे बढ़िया यह रहेगा कि आप लेखक को मेल करें और अपने सवाल उनसे पूछे। पाठकों को कुछ अलग पढ़ने को मिलेगा। आभार।

      Delete
  2. बहुत बढ़िया योजना .. परम्परागत ढर्रे से हट कर कुछ पढ़ना वैचारिक दृष्टिकोण को विकसित करता है .प्रतीक्षा रहेगी नवीन लेखन की ।

    ReplyDelete
  3. अच्छी योजना । बधाई ।

    ReplyDelete
  4. Interesting book blog! I am an avid reader but haven't read any of these, however I have read The Rise of Hastinapur by Sharath Komarraju. Will read your reviews.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks Tarang ji. There are lot of books in the market. We just choose what we like and we tend to drift more towards them. I like crime fiction but there are lot of new Indian authors that i haven't heard about. it was good to see you on my blog. Keep Coming here.

      Delete

Disclaimer:

Vikas' Book Journal is a participant in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for sites to earn advertising fees by advertising and linking to Amazon.com or amazon.in.

हफ्ते की लोकप्रिय पोस्टस(Popular Posts)