एक बुक जर्नल: आज का उद्धरण

Friday, October 9, 2020

आज का उद्धरण

 


The worst enemy of every religion is the fanatic who professes to follow it and tries to impose his view of his faith on others. People do not judge religions by what their prophets preached or how they lived but by the way their followers practice them.
- Khushwant Singh, The End of India

किसी भी धर्म का सबसे बड़ा दुश्मन वो कट्टरपंथी है जो उस धर्म को मानने की बात करता है और धर्म को लेकर बने अपने विचारों को दूसरों पर थोपने की कोशिश करता है। लोगों की धर्म के प्रति राय इस बात से नहीं बनती हैं कि उस धर्म के सिद्ध पुरुषों ने क्या शिक्षाएं दी या उन्होंने अपना जीवन कैसे व्यतीत किया बल्कि इस बात से बनती है कि उस धर्म के अनुयायी किस तरह से उसका पालन करते हैं।
- खुशवंत सिंह, द एंड ऑफ़ इंडिया

किताब निम्न लिंक से मँगवाई जा सकती है:
पेपरबैक | किंडल 

No comments:

Post a Comment

Disclaimer:

Vikas' Book Journal is a participant in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for sites to earn advertising fees by advertising and linking to Amazon.com or amazon.in.

लोकप्रिय पोस्ट्स