फिलहाल पढ़ रहा हूँ (current reads)

फिलहाल पढ़ रहा हूँ


नवरी का आखिरी हफ्ता आ गया है। कल रात से ही रुक रुक कर बारिश होती रही है जिस कारण ठंड बढ़ गयी है। आज सुबह भी बारिश होकर हटी है और बूंदा बांदी होने के आसार हैं। ठंड कम होने का नाम नहीं ले रही है और ये मेरे लिए अच्छा है। ठंड का मौसम जितना देर तक रहे मुझे उतना मज़ा आता है। ये मेरे सबसे पसंदीदा मौसमों में से एक है।

इस महीने क्या पढ़ा यह तो मैं आपको बाद में बताऊंगा लेकिन इस पोस्ट में यह बताऊंगा कि मैं फिलहाल इस समय क्या पढ़ रहा हूँ।

इस समय में डीन कूंटज का लिखा उपन्यास लाइफ एक्स्पेक्टैंसी पढ़ रहा हूँ। यह उपन्यास जेम्स टोक नामक पेस्ट्री शेफ की कहानी है। जेम्स टोक पाठकों को अपने जीवन की कहानी सुना रहा है। जेम्स टोक का जब जन्म हुआ था तो उसे लेकर उसके दादा जी ने दस भविष्यवाणियाँ की थी। ये भविष्यवाणियाँ करने के बाद उसके दादा जी परलोक सिधार गये थे और जिस वक्त उसके दादाजी की मौत हुई ठीक उसी वक्त जेम्स टोक का जन्म हुआ। मरने से पहले जेम्स टोक के दादा ने जेम्स टोक के पिता रूडी टोक को पाँच ऐसी तारीकें बताई थीं जिन तारीकों को लेकर जेम्स  उर्फ़ जिम्मी(दादा की एक भविष्यवाणी यह भी थी कि जेम्स हमेशा जिम्मी के नाम से जाना जायेगा), को सचेत रहने की आवश्यकता है। ये तारीक क्या हैं और इन तारीकों को जेम्स की जिंदगी में क्या भूचाल आता है यही उपन्यास का कथानक बनता है। उपन्यास रोचक है। जेम्स टॉक एक मजाकिया इनसान है और इस कारण उपन्यास का कथनाक हास्य से भरा हुआ है। यह पढ़ते हुए मुझे मजा आ रहा है।

उपन्यास के अलावा हार्लेन एलिसन का कहानी संग्रह आई हेव नो माउथ एंड आई मस्ट स्क्रीम  नाम का कहानी संग्रह मैं पढ़ रहा हूँ। इस संग्रह की दो कहानियाँ मैं पढ़ चुका हूँ:आई हेव नो माउथ एंड आई मस्ट स्क्रीम और बिग सैम वास माय फ्रेंड


आई हेव नो माउथ एंड आई मस्ट स्क्रीम एक ऐसी दुनिया की कहानी है जहां मानव सभ्यता समाप्त हो चुकी है। केवल पाँच मानव ही इस दुनिया में बचे हुए हैं और इस दुनिया में एक कंप्यूटर का राज है। यह दुनिया कैसी है और यह मानव कौन हैं यह कहानी इन मानवों में से एक किरदार सुना रहा है। कहानी रोचक है और आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस का एक स्याह पक्ष दिखाती है। कहानी यह भी दर्शाती है कि हम विकास के नाम पर तकनीक में आगे तो बढ़ रहे हैं लेकिन हमारी यह बढ़त बिना सोचे समझे हो रही है। हमे ठहरकर सोचने की आवश्यकता है कि कहीं हम विकास के नाम पर कुछ ऐसी चीजें तो नहीं कर रहे जो कि खुद के पैरों में कुल्हाड़ी मारने के समान है।

बिग सैम वास माय फ्रेंड सैम की कहानी है जो उसका दोस्त जॉनी ली सुना रहा है। यह ऐसी दुनिया की कहानी है जहाँ एक ग्रह से दूसरे ग्रह जाना आम बात है। तकनीक काफी विकसित हो चुकी है। ऐसे में इनसान भी इतने विकसित हो चुके हैं कि उनके अंदर कुछ खूबियाँ आ चुकी हैं। कुछ कुछ एक्स मैन की तरह। सैम भी ऐसा ही व्यक्ति था। सात फुट लम्बा सैम एक सर्कस में काम करता था और फिर एक बार जब सर्कस शो करने किसी ग्रह में गया था तो उधर उसे मौत की सजा सुना दी गयी।  सैम सर्कस में कैसे शामिल हुआ? सैम को मौत की सजा क्यों दी गयी? यही सब कहानी पढ़ते हुए पाठकों को पता चलता है। एक रोचक कहानी है।

इस संग्रह की अन्य कहानियों को पढ़ने के लिए मैं उत्साहित हूँ। ऑफिस जाते हुए ऑटो में सफर करने के दौरान मैं इन्हें पढ़ता हूँ। रोज एक कहानी हो जाये तो इसी हफ्ते ये संग्रह भी खत्म  हो जायेगा।

इनके अलावा यह सप्ताहंत अच्छा रहा। यज्ञा के दोनों खंडों: लाइट्स कैमरा कॉमिक्स और ब्लड बाथ को एक बार फिर सप्ताहंत में पढ़ा और उनके विषय में लिखा। रविवार को एक बाल उपन्यास सीक्रेट सेवेन आगे बढ़ो पढ़ा। एनिड ब्लाइटन की सीक्रेट सेवेन सीरीज के मैं पाँच उपन्यास पढ़ चुका हूँ और सभी मुझे पसंद आये हैं। ये पाँचों ही हिन्दी में अनूदित थे। इसके बाद के उपन्यासों को मंजुल प्रकाशन ने हिन्दी में अनूदित नहीं किया है तो उन्हें अंग्रेजी में ही पढूँगा। क्या आपने सीक्रेट सेवेन श्रृंखला के उपन्यास पढ़े हैं? अगर नहीं तो एक बार जरूर पढ़िएगा और घर में बच्चे हैं तो उन्हें भी पढ़ने को दीजियेगा।

मेरा एक दूसरा ब्लॉग भी है जहाँ मैं अपने यात्रा वृत्तांत, कवितायें और पब्लिक डोमेन में मौजूद कहानियों के अनुवाद डालता रहता हूँ। इसी ब्लॉग पर मैंने टी डी हैम की अंग्रेजी कहानी द लास्ट सपर का हिन्दी अनुवाद भी डाला है। यह कहानी एक विज्ञान गल्प(साइंस फिक्शन) है। कहानी छोटी है लेकिन चूँकि मुझे रोचक लगी तो मैंने इसका अनुवाद किया और अपने ब्लॉग पर डाल दिया। कहानी पढ़कर अपनी राय दीजियेगा:

आखिरी भोज

ये तो हुई मेरी बात। अब आप बताईये।

आपका सप्ताहंत कैसा रहा? क्या कुछ रोचक घटना आपके साथ घटित हुई?
आप अभी  क्या पढ़ रहे हैं? 
हाल फिलहाल में आपने क्या पढ़ा?

© विकास नैनवाल 'अंजान'
FTC Disclosure: इस पोस्ट में एफिलिएट लिंक्स मौजूद हैं। अगर आप इन लिंक्स के माध्यम से खरीददारी करते हैं तो एक बुक जर्नल को उसके एवज में छोटा सा कमीशन मिलता है। आपको इसके लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ेगा। ये पैसा साइट के रखरखाव में काम आता है। This post may contain affiliate links. If you buy from these links Ek Book Journal receives a small percentage of your purchase as a commission. You are not charged extra for your purchase. This money is used in maintainence of the website.

Post a Comment

2 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
  1. Have heard a lot about Dean Koontz but haven't read any of his books.

    The title 'I Have No Mouth & I Must Scream' is so intriguing! I don't read sci fi anymore. I used to. I've read several books by Prof. Diwakar. But it sounds very intriguing. Adding it to my {ever growing} TBR list.

    I'm reading a thriller 'Tell Me My Name' {it's a review copy}. It's good so far. Also a comic/illustrated book {again a review copy} 'Dearest George'.

    ReplyDelete
    Replies
    1. This was my second Dean Koontz. I have read his The Taking which was kind of science ficiton with elements of theology in it. This one was a fun read. And the ends had lots of twists and turns.I have no mouth and i must scream have some good science fiction stories. They are weird but definitely worth a read.
      The thirller that you are reading looks intriguing. I have also started buying graphic novels now a day. I got Mai by Sriram Jagannathan. I have to read it yet, though.Dear George looks interesting.

      Delete

Top Post Ad

Below Post Ad