ऑथहर पुरस्कार 2022 के विजेताओं की हुई घोषणा

 



वर्ष 2022 के ऑथहर पुरस्कारों (Auther Awards 2022) के विजेताओं की घोषणा की जा चुकी है। यह घोषणा 25 मार्च 2022 को आयोजित एक समारोह में की गई। समारोह के मुख्य अतिथि प्रसिद्ध गीतकार प्रसून जोशी रहे। 

ज्ञात हो 2018 में शुरू हए वुमन ऑथर अवार्ड्स जेके पेपर और टाइम्स ऑफ इंडिया द्वारा शुरू किया गया साझा उपक्रम है जिसके माध्यम से वह लेखिकाओं को सम्मानित कर उन्हें वह ख्याति प्रदान करने की कोशिश की जा रही है जिसकी वो हकदार हैं। पुरस्कार का लक्ष्य महिलाओ को एक वार्षिक प्लेटफॉर्म प्रदान करना है जिसके माध्यम से लेखिकाओं को पुरस्कृत किया जा सके और इसके चलते दूसरी महिलाओं को लेखन करने के लिए प्रेरित किया जा सके।

वर्ष 2022 के पुरस्कार के लिए पुस्तकों की एंट्री 17 अक्टूबर 2021 से 19 दिसम्बर 2021 तक थी। पुरस्कार के लिए लेखिकाओं द्वारा लिखित वही पुस्तकें मान्य थीं जिनका प्रकाशन दिसंबर 2022 से नवंबर 2021 के बीच हुआ था।  पुस्तकों का मूल्यांकन दिसंबर 2021 के तीसरे हफ्ते से लेकर मार्च 2022 के बीच हुआ था। पुरस्कार के लिए इस वर्ष 1500 से ऊपर प्रविष्टियाँ आई थी।  


अलग अलग श्रेणियों में निम्न लेखिकाएँ हुई विजय 

सर्वश्रेष्ठ गल्प  (Best Fiction)



स्रोत: AutherAwards


वर्ष 2021 का सर्वश्रेष्ठ गल्प ऑथहर पुरस्कार लेखिका चित्रा बैनर्जी दिवाकरुणी (Chitra Bannerjee Divakaruni) को उनके उपन्यास द लास्ट क्वीन (The Last Queen) के लिए  प्रदान किया गया। 

‘द लास्ट क्वीन’ महाराजा रंजीत सिंह की सबसे जवान और आखिरी पत्नी जिंद कौर के जीवन पर लिखा गया उपन्यास है। उनके रानी बनने से लेकर अपने बेटे की विरासत को बचाने तक के संघर्ष को लेखिका ने इस उपन्यास के माध्यम से कागज पर जीवंत किया है। 

सर्वश्रेष्ठ गल्प (Best Fiction) पुरस्कार के माध्यम से पुरस्कार समिति किसी लेखिका द्वारा लिखे मौलिक और सर्वश्रेष्ठ उपन्यास को सम्मानित करती थी।  सर्वश्रेष्ठ गल्प (Best Fiction) पुरस्कार की विजेता का चुनाव एक चयन समिति, जिसमें लेखक गीतकार प्रसून जोशी (Prasoon Joshi), लेखक रवि सुबरामणियन (Ravi Subramanian),   प्रोफेसर और इतिहासकार क्रिस्टीन कॉर्नेट (Christine Cornet) और लेखिका कॉलमिस्ट और स्क्रीनराइटर अद्विता काला  (Advita Kala)  शामिल थे,  द्वारा किया गया। प्रसून जोशी (Prasoon Joshi) द्वारा समिति की अध्यक्षता की गई।
 

पुरस्कार की शॉर्ट लिस्ट में ये भी शामिल:

  • द एमीनेंटली फॉर्गेटेबल लाइफ ऑफ मिसेज पंकजम (The Eminently Forgettable Life of Mrs Pankajam) - मीरा राजागोपालन (Meeera Rajagopalan)
  • द ब्लाइंड मैट्रियार्क (The Blind Matriarch) - नमिता गोखले (Namita Gokhale)
  • लाहोर: द पार्टीशन ट्रिलॉजी (Lahore: The Partition Trilogy) - मनरीत सोढ़ी सोमेश्वर


पुरस्कार की लॉन्ग लिस्ट में ये भी थे शामिल

  • अ मिरर मेड ऑफ रैन (A Mirror Made of Rain) - नहीद फिरोज पटेल (Naheed Phiroze Patel)
  • द बेगम एण्ड द दास्तान (The Begum and the Dastan)- तराना हुसैन खान (Tarana Hussain Khan)
  • अ हाउस फुल ऑफ मेन (A house full of Men) - परिंदा जोशी (Parinda Joshi) 
  • द इल्यूमिनेटड (The Illuminated) - अनिन्दिता घोष (Anindita Ghose)
  • द अर्थस्पिनर (The Earthspinner) - अनुराधा रॉय(Anuradha Roy)


सर्वश्रेष्ठ कथेतर (Best Non Fiction)

स्रोत: AutherAwards

वर्ष 2021 का   सर्वश्रेष्ठ कथेतर (Best Non Fiction) पुरस्कार श्रायना भट्टाचार्य (Sharayana Bhattacharya) को उनकी पुस्तक डेसपेरेटली सीकिंग शाहरुख खान (Desperately Seeking Shahrukh Khan) के लिए प्रदान किया गया है।  

श्रायना भट्टाचार्य (Sharayana Bhattacharya) ने अपनी पुस्तक  डेसपेरेटली सीकिंग शाहरुख खान (Desperately Seeking Shahrukh Khan) में बॉलीवुड ऐक्टर शाहरुख खान की अलग-अलग प्रशंसकों के माध्यम से भारतीय स्त्री की चाहतों और उनके जीवन के कई पहलुओं को उघाड़ने की कोशिश की है। अलग अलग शहरों, अलग अलग आर्थिक स्थितियों में रहने वाली इन औरतों को केवल एक चीज जोड़ती है और वह है शाहरुख के प्रति उनका आकर्षण। अपने जीवन में रोजमर्रा की दिक्कतों से जूझते हुए उनका यह आकर्षण किस तरह उन्हें तनावमुक्त करता है यह दर्शाकर वह भारतीय महिला की सोच और जीवन  को दर्शाती है।

सर्वश्रेष्ठ कथेतर (Best Non Fiction) के माध्यम से पुरस्कार समिति लेखिका द्वारा कथेतर विधा में लिखी गई मौलिक पुस्तक को सम्मानित करती है।  इस श्रेणी के लिए समाजिक संदेश देने के लिए लिखी गई पुस्तकें, जीवनियाँ, स्वयं सुधार पुस्तकें, सत्य अपराध कथाएँ और ऐतिहासिक पुस्तकें मान्य होती हैं। विजेता का चुनाव एक चयन समिति जिसमें, लेखक, कलाकार, राजनयिक, टीवी कमेंटेटर राजीव डोगरा (Rajiv Dogra) और लेखिका और इतिहासकार  स्वप्ना लिड्डल (Swapna Liddle) शामिल थे, ने किया। समिति की अध्यक्षता राजीव डोगरा (Rajiv  Dogra) द्वारा की गई।  



पुरस्कार की शॉर्ट लिस्ट में ये भी शामिल:

  • ऑरिएंटिंग (Orienting) - पल्लवी अय्यर (Pallavi Aiyar)
  • द टाटाज, फ्रेडी मर्क्यूरी एंड अदर बावास (The tatas, Freddie Mercury & Other Bawas) - कूमी कपूर (Coomi Kapoor)

    पुरस्कार की लॉन्ग लिस्ट में ये भी थे शामिल
    • स्टार्स इन माय स्काई (Stars In My Sky) - दिव्या दत्ता (Divya Dutta)
    • लैंडस्केप्स ऑफ लॉस (Landscapes of Loss) - कविता अयर (Kavitha Iyer)
    • लेडी डॉक्टर्स: द अनटोल्ड स्टोरीस ऑफ इंडियाज फर्स्ट वुमेन (Lady Doctors: The Untold Stories of India’s First Women In Medicine) - कविता राव (Kavitha Rao)
    • द लॉन्गेस्ट किस (The Longest Kiss) - किश्वर देसाई (Kishwar Desai)
    • इंटीमेट सिटी (Intimate City) - मंजिमा भट्टाचार्य (Manjima Bhattacharya) 
    • ज़ोहरा (Zohra) - ऋतु मेनन (Ritu Menon)
    • द फीमेल गेज (The Female Gaze) - शोमा चटर्जी (Shoma Chatterjee)

    सर्वश्रेष्ठ बाल साहित्यकार (Best Children Author)

    स्रोत: AutherAwards


    वर्ष 2021 का ऑथहर सर्वश्रेष्ठ बाल साहित्यकार (Best Children Author) पुरस्कार शबनम मिनवाला (Shabnam Miniwala) को उनके उपन्यास मर्डर एट डेज़ी अपार्टमेंट्स (Murder At Daisy Apartments) के लिए प्रदान किया गया। 

    लॉकडाउन का 46वाँ  दिन है। डेजी एण्ड लिली अपार्टमेंट्स के चैयरमैन की मृत्यु हो जाती है। किसी ने उसे जहर दिया है। दोनों अपार्टमेंट सील थे और इसलिए वहाँ का निवासी ही कोई कातिल हो सकता है। 

    नंदिनी वेंकट 15 वर्षीय लड़की है जिसे जासूसी उपन्यास पढ़ना पसंद है। इस खबर से उसे झटका लगता है। उसे याद है उसने किसी को उस रात को किसी को सीढ़ियों पर चढ़ता देखा था। यही कारण था कि वह अपने जुड़वा भाई वेद और अपनी दोस्त शनाया के साथ मिलकर कातिल का पता लगाने की कोशिश करती है। 

    आखिर किसने किया था कत्ल? क्या ये तिकड़ी कातिल का पता लगा पाई?

    सर्वश्रेष्ठ बाल साहित्यकार (Best Children Author) पुरस्कार के माध्यम से पुरस्कार समिति उस लेखक को सम्मानित करते हैं जिसने अपनी रचना के माध्यम से बाल या किशोर साहित्य में सर्वश्रेष्ठ योगदान दिया है। पुरस्कार विजेता का चुनाव तीन सदस्यीय चयन समिति, जिसमें उपन्यासकार, अनुवादक और पत्रकार जेरी पिन्टो (Jerry Pinto), टीवी ऐंकर अमृता रायचंद (Amrita Raichand) और शिक्षाविशारद सुजाता नोरोनहा (Sujata Noronha)  शामिल थे, ने किया। समिति की अध्यक्षता  जेरी पिन्टो (Jerry Pinto) द्वारा की गई। 



    पुरस्कार की शॉर्ट लिस्ट में ये भी शामिल:

    • अनमास्कड (Unmasked) - पारो आनंद (Paro Anand)
    • अंकल नेहरू, प्लीज सेंड एन एलीफेंट! (Uncle Nehru, Please Send An Elephant!) - देविका करिअपा (Devikas Cariapa)
    • क्वीन ऑफ फायर (Queen of Fire) - देविका रंगचारी (Devika Rangachari)
    •  दे मेड व्हाट? दे फाउंड व्हाट? (They Made What? They Found What?) - श्वेता तनेजा (Shweta Taneja)

      पुरस्कार की लॉन्ग लिस्ट में ये भी थे शामिल

      • व्हेन द वर्ल्ड वेंट डार्क (When the World Went Dark) - (Jane De Suza)
      • स्मैश इट, बटरफिंगर्स (Smash it, Butterfingers!) - खाइरुनिस्सा ए.  (Khyrunissa A.)
      •  द हैपीनेस ट्रेन (The Happiness Train) - नंदिनी नायर (Nandini Nayar)
      • पेडरू एंड द बिग बूम (Pedru and the Big Boom) - नंदिता डा कून्हा (Nandita Da Cunha) और  निहारिका शेनोय (Niharika Shenoy)
      • व्हाट्स अप विद मी? (What’s  Up With Me?) - टिस्का चोपड़ा (Tisca Chopra)


      बेस्ट डेब्यू ऑथर (Best Debut Author)

      स्रोत: AutherAwards


      वर्ष 2021 का ऑथहर बेस्ट डेब्यू ऑथर  (Best Debut Author) का पुरस्कार फाराह बशीर (Farah Bashir) को रूमर्स ऑफ स्प्रिंग (Rumors of Spring) के लिए प्रदान किया गया है।  

      रूमर्स ऑफ स्प्रिंग (Rumors of Spring) फाराह बशीर (Farah Bashir) की संस्मरणों की किताब है जिसमें वह 1990 के काश्मीर की यादों को पाठकों के साथ साझा कर रही है। एक किशोरी के रूप में उस वक्त के हालात ने उन पर क्या असर डाला यह उनके इन संस्मरणों को पढ़कर जाना जा सकता है। 

      सर्वश्रेष्ठ प्रथम प्रकशित रचना  (Best Debut Author) के माध्यम से पुरस्कार समिति ऐसे लेखक को सम्मानित करती है जिसकी पहली रचना ही बेहतरीन है। इस श्रेणी में उपन्यास और कहानी संग्रह दोनों मान्य होते हैं। इस वर्ष सर्वश्रेष्ठ प्रथम प्रकशित रचना  (Best Debut Author) का तीन सदस्य चयन समिति, जिसमें अनुवादक और लेखक अरुणव सिन्हा (Arunava Sinha), लेखक रवींद्र सिंह (Ravindra Singh) और कवयित्री, अनुवादिका और लेखिका सबा महमूद बशीर (Saba Mahmood Bashir ) शामिल थे, ने किया है। समिति की अध्यक्षता अरुणाव सिन्हा (Arunava Sinha) द्वारा की गई थी। 


      पुरस्कार की शॉर्ट लिस्ट में ये भी शामिल:

      • अ देथ इन शोनागाछी (A Death in Shonagachi) - ऋजुला दास (Rijula Das)
      • आफ्टर आई वास रैप्ड (After I was Raped) - उर्मि भट्टाचार्य (Urmi Bhattacharya)
      • द टेल ऑफ द हॉर्स (The Tale of the Horse) - यशस्विनी चंद्रा (Yashaswini Chandra) 

        पुरस्कार की लॉन्ग लिस्ट में ये भी थे शामिल

        • बिलियन्स अण्डर लॉकडाउन (Billions Under Lockdown) - अवन्तिका घोष (Abantika Ghosh)
        • इक्वैशंस (Equations) - शिवानी सिबल (Shivani Sibal) 
        • माउंटेन टेल्स (Mountain Tales) - सौम्या रॉय (Saumya Roy)
        • डेविल्स डॉटर (Devil’s Daughter) - विधि मुखर्जी (Vidhie Mukerjea)

        पोपुलर चॉइस पुरस्कार (Popular Choice)

        स्रोत: AutherAwards



        ऑथहर पोपुलर चॉइस पुरस्कार के माध्यम से पुरस्कार समिति ऐसी पुस्तक को पुरस्कृत करती हैं जिसे पाठकों का प्यार प्राप्त होता है। पाठकों द्वारा अपने पुरस्कार वर्ष के दौरान प्रकाशित हुई अपनी प्रिय लेखिका की पुस्तक का चुनाव करना होता है। सबसे ज्यादा मतों से जीतने वाली पुस्तक को यह पुरस्कार प्रदान किया जाता है। 

        वर्ष 2021 का ऑथहर पोपुलर चॉइस पुरस्कार नींव राजू अकुनुरी (Neenv Raju Akunuri) के उपन्यास साइलेन्ट स्क्रीम्स (Silent Screams) को प्रदान किया गया। 

        नींव राजू अकुनुरी (Neenv Raju Akunuri) का उपन्यास साइलेन्ट स्क्रीम्स (Silent Screams) एक मर्डर मिस्टरी है।नसीन राजनाथ एक क्रिमिनल लॉयर है जिसकी सबसे अच्छी दोस्त का कत्ल हो चुका है। एसीपी जैसन सहायम के मामले की तहकीकात करने के बाद पुलिस मकतूला पति जय सिंह को कातिल के रूप में देखने लगती है। नसीन जानती है कि जय सिंह जैसा अपनी पत्नी को दिलोंजान से चाहने वाला व्यक्ति अपनी पत्नी का कत्ल नहीं कर सकता है और यही कारण है कि वह जय की पेहरवी करने का फैसला करती है। 

        लेकिन सच क्या है? क्या जय सिंह निर्दोष है? जेसन को क्यों लगता है जय सिंह ने कत्ल किया है? क्या नसीन कातिल तक पहुँच पाई?

        ऑथहर लाइफ टाइम अचीवमेंट (Lifetime Achievement)

        ऑथहर लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार लेखन के क्षेत्र में अद्वितीय कार्य करने वाली लेखिका को दिया जाता है।  वर्ष 2021 का लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड प्रख्यात लेखिका अनीता देसाई (Anita Desai) को दिया गया। 

        वर्ष 1937 में जन्मी लेखिका अनीता देसाई अब तक अपने लेखन के चलते बुकर पुरस्कार के लिए तीन बार शॉर्ट लिस्ट हो चुकी हैं। उनकी पहली कहानी नौ वर्ष की उम्र में प्रकाशित हो चुकी थी। उनका पहला उपन्यास क्राइ, द पिकॉक (Cry, the Peacock) 1963 में प्रकाशित हुआ था। अब तक उनकी पंद्रह पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं जिसमें 10 उपन्यास, कहानी संग्रह, लघु-उपन्यास संग्रह शामिल हैं। 

        फायर ऑन द माउंटेन (Fire On the Mountain) के लिए विनिफ्रेड हॉल्टबाय मेमोरियल प्राइज़ (1978 ) और साहित्य अकादमी पुरस्कार (1978), द विलेज बाय द सी (The Village By The Sea) के लिए गार्डियन चिल्ड्रन्स फिक्शन प्राइज़ (1983), नील गन पुरस्कार (1993), साहित्य के लिए दिए जाने वाला अल्बर्टो मोराविया पुरस्कार (2000),रॉयल सोसाइटी ऑफ लिटरेचर का बेनसन मेडल और भारतीय सरकार द्वारा पद्म भूषण जैसे पुरस्कारों से वह सम्मानित की जा चुकी हैं। अपने उपन्यासों क्लियर लाइट ऑफ डे (Clear Light of Day), इन कस्टडी (In Custody) और फास्टिंग फीस्टिंग (Fasting, Feasting) के लिए वह बुकर प्राइज़ की शॉर्ट लिस्ट में भी आ चुकी हैं।  



        FTC Disclosure: इस पोस्ट में एफिलिएट लिंक्स मौजूद हैं। अगर आप इन लिंक्स के माध्यम से खरीददारी करते हैं तो एक बुक जर्नल को उसके एवज में छोटा सा कमीशन मिलता है। आपको इसके लिए कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ेगा। ये पैसा साइट के रखरखाव में काम आता है। This post may contain affiliate links. If you buy from these links Ek Book Journal receives a small percentage of your purchase as a commission. You are not charged extra for your purchase. This money is used in maintainence of the website.

        Post a Comment

        2 Comments
        * Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
        1. रोचक जानकारी। सभी लेखिकाओं को हार्दिक बधाई।

          ReplyDelete
        2. अच्छी जानकारी, विकास भाई इसके साथ साथ जब इन पुरस्कारों के लिए पुस्तकें और नाम आमंत्रित किये जाते हैं कृपया उसकी भी जानकारी ब्लॉग पर डालें ।

          ReplyDelete

        Top Post Ad

        Below Post Ad