डिस्क्लेमर

This post contains affiliate links. If you use these links to buy something we may earn a commission. Thanks.

Friday, February 5, 2021

आज का उद्धरण

कृष्ण बलदेव वैद | हिन्दी कोट्स | अब्र क्या चीज है, हवा क्या है?


देशप्रेम अक्सर एक प्रकार के पागलपन में बदल जाता है, इसलिए इसे शक की निगाह से देखना जरूरी और सही है। देश भक्ति/प्रेम के बहाने अक्सर गरीबों को ही पीसा जाता है.. देशप्रेम और धर्मांधता सत्ताधारियों के हित में ही इस्तेमाल होते आयें, होते रहते हैं। 

- कृष्ण बलदेव वैद, अब्र क्या चीज है? हवा क्या है?

किताब लिंक: हार्डकवर | किंडल

4 comments:

  1. वैद जी की बात काफ़ी हद तक सही है । उन्माद में प्रायः तर्क एवं विवेक गौण हो जाते हैं जिसका अनुचित लाभ स्वार्थी तत्व ही उठाते हैं । यह बात बड़े सब्र के साथ और बड़ी बारीकी से ग़ौर करने पर ही पता लगती है । विचार को साझा करने के लिए आभार विकास जी ।

    ReplyDelete

Disclaimer

This post contains affiliate links. If you use these links to buy something we may earn a commission. Thanks.

Disclaimer:

Ek Book Journal is a participant in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for sites to earn advertising fees by advertising and linking to Amazon.com or amazon.in.

लोकप्रिय पोस्ट्स