डिस्क्लेमर

This post contains affiliate links. If you use these links to buy something we may earn a commission. Thanks.

Series

मुझे ऐसे उपन्यास पढना पसन्द है जिनमे एक किरदार बार बार दोहराता रहता है। एक तो आपको किरदारों से लगाव हो जाता है और दूसरा आप वक्त के साथ उसके अन्दर आए बदलावों को महसूस कर सकते हैं। फिर वो बदलाव हमारे समाज में हुए बदलाव को भी दर्शाते हैं। ये बदलाव आप उपन्यास की कहानी में, किरदारों में महसूस कर सकते हैं। एकल उपन्यासों में ऐसा महसूस करना इतना मुमकिन नहीं होता क्यों किरदारों के साथ साथ दृष्टिकोण भी बदलते जाते हैं।

यहाँ उन श्रृंखलाओं की सूची है जो मैं पूरी पढना चाहूँगा। या पढ़ चुका हूँ। हर लिंक आपको एक पृष्ठ पर ले जायेगा जिधर उस श्रृंखला में मौजूद सभी उपन्यासों की सूची होगी। उस सूची में जो भी सक्रिय लिंक होंगे, वो उन पृष्ठों पर ले जाते हैं जिस पर मैंने उस उपन्यास के विषय में अपनी राय दी है।

(I have always loved reading novels that are part of a series, I feel that as a reader i find more attached to the characters that are in a series. We can see the changes that happen to these characters  and the society as the series progresses over a period of time. In the stand alone novel that is not possible.

Here is the list of series that i'm pursuing and i hope to complete one day. Each link will take you to the page where the list of novels belonging to that particular series are listed. The active links there would lead you to my post about that particular novel.)

87th Precinct




कमाण्डर करण सक्सेना


© विकास नैनवाल 'अंजान'

No comments:

Post a Comment

Disclaimer

This post contains affiliate links. If you use these links to buy something we may earn a commission. Thanks.

Disclaimer:

Ek Book Journal is a participant in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for sites to earn advertising fees by advertising and linking to Amazon.com or amazon.in.

लोकप्रिय पोस्ट्स