एक बुक जर्नल: Reading Resources

Reading Resources

Image by kerttu from Pixabay

हम इलेक्ट्रॉनिक युग में जी रहे हैं जहाँ सारा ज्ञान हमारी उँगलियों की एक हरकत से हमारे पास उपलब्ध हो जाता है। अंतर्जाल बहुत बड़ा है और इसमें असंख्य ऐसे स्रोत हैं जहाँ से आप आसानी से साहित्य या तो आप ऑनलाइन पढ़ सकते हैं या पब्लिक डोमेन की किताबों को मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं। लेकिन यह स्रोत अंतर्जाल के कोनों कोनों में बिखरे पड़े हैं। इस पृष्ठ के माध्यम से मैं इन स्रोतों को एक ही जगह इकठ्ठा करने की कोशिश कर रहा हूँ। यहाँ मैं उन वेबसाईटस को दर्ज करूँगा जहाँ जाकर मेरी साहित्य की बुभुक्षा अक्सर शांत हो जाती है।

याद रहे मैं इधर जब किताबें डाउनलोड करने की बात करता हूँ तो उन्हीं किताबों की बात करता हूँ जिन्हें उनके लेखकों ने डाउनलोड करने की अनुमति दी है या वो किताबें अब पब्लिक डोमेन में आ चुकी हैं या आउट ऑफ़ प्रिंट हैं और उनके प्रिंट में आने की कोई उम्मीद नहीं है।

मैं पायरेसी पायरेसी के सख्त खिलाफ हूँ और इस कारण इस पृष्ठ में भी ऐसे स्रोत का इस्तेमाल नहीं करूँगा जो किताबों की पायरेसी में लिप्त हो।

तो चलिए जानते हैं उन स्रोतों के विषय में जहाँ जाकर अक्सर मैं साहित्य सागर में गोते लगाता हूँ।

Kindle Resources:
मुफ्त किताबें (हिन्दी)(Free Books Hindi)
मुफ्त किताबें (अंग्रेजी )(Free Books English)
Free Crime, Thriller, Mystery Books(Hindi and English)
Free Fantasy Fiction Books(Hindi and English)
Free Science Fiction Books(Hindi and English)
Free Horror Books(Hindi and English)
नौ रूपये से कम की किताबें
नौ रूपये से कम की हिन्दी और अंग्रेजी किताबें
नौ रूपये से कम की फंतासी हॉरर साइंस फिक्शन किताबें
नौ रूपये से कम की मिस्ट्री किताबें 
नौ रूपये से कम की साहित्य की किताबें
उन्तीस रूपये से कम की किताबें
29 रूपये से कम की हिंदी और अंग्रेजी की किताबें
Crime Thriller Mystery Books
Science Fiction Horror Books
Literary Fiction
Top 100 Paid
Top 100 Free
Prime Books
Unlimited Books

Online Reading Resources (वह साइट्स जहाँ से मैं अक्सर ऑनलाइन रीडिंग करता हूँ):
गद्यकोश
कविताकोश
हिन्दी समय
जानकीपुल
रचनाकार
प्रतिलिपि
शब्दांकन
लघु कथा
ओम प्रकाश शर्मा (ओम प्रकाश शर्मा जी के आउट ऑफ़ प्रिंट उपन्यास इधर स्कैन करके लगाये हैं। इसमें ओम प्रकाश शर्मा जी के पुत्र की सहमति ली गयी है। जनप्रिय लेखक के उपन्यास अगर आप ऑनलाइन पढ़ना  चाहते हैं तो आप इधर जाकर पढ़ सकते हैं।)
जासूसी संसार(रमाकांत जी अपने इस ब्लॉग में अक्सर कई आउट ऑफ़ प्रिंट उपन्यासों के स्कैन लगाते हैं। यह अक्सर वो उपन्यास हैं जिनके प्रिंट में आने की उम्मीद अब कम है। इस कारण यह स्कैन ही अब इन्हें पढ़ने का एक मात्र सहारा है।)
साहित्य विमर्श
रेख्ता
सहिंद

Online Public Domain E-book Stores (ऑनलाइन ई बुक साइट्स जहाँ से आप पब्लिक डोमेन किताबें डाउनलोड कर पढ़  सकते हैं):
पब्लिक डोमेन के अंदर वह किताबें आती हैं जिनका कॉपीराइट समाप्त हो चुका है।  इन किताबों को आप कानूनी तौर पर डाउनलोड करके पढ़ सकते हैं। अंतर्जाल में (इन्टरनेट) में कई साइट्स ऐसी हैं जो इन किताबों को डाउनलोड करने की सुविधा प्रदान करती हैं। आप इधर जाकर उन्हें आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

Project Gutenberg
Many Books
Feed Books


Mobile Applications (मोबाइल ऍप्लिकेशन्स)
स्मार्ट फोन के जमाने में आपके पास काफी ऐसे ऍप्लिकेशन्स मौजूद हैं जहाँ आप नवोदित और स्थापित लेखकों की रचनाएं पढ़ सकते हैं। इनमें से कुछ ऍप्लिकेशन्स निम्न हैं:
Pratilipi (इसमें सभी रचनाएं आप मुफ्त में पढ़ सकते हैं।)
Kindle (इसमें कुछ रचनाएं मुफ्त में पढ़ी जा सकती हैं और कुछ आप खरीद सकते हैं।)
Juggernaut  (इस एप्लीकेशन में भी काफी रचनाएं आप मुफ्त में पढ़ सकते हैं और काफी रचनाओं को आप खरीद सकते हैं। )
साहित्य विमर्श

आशा है यह जानकारी आपके काम आएगी। आप इसे बुक मार्क करके रख सकते हैं। अगर आप ऊपर दी हुई साइट्स के अलावा कुछ और साइट्स को जानते हैं तो उनका नाम मुझसे साझा जरूर कीजियेगा। मैं ऊपर दी हुई सूची में उन्हें जोड़ दूँगा।


© विकास नैनवाल 'अंजान' 

8 comments:

  1. मेरा पेज भी इसमें जोड़ लीजिये। मैंने अभी तक दो किताबें लिखी हैं और आगे जो भी लिखूंगा वो इस पेज में एड करता रहूंगा।
    https://mydreamspublication.blogspot.com/2020/02/blog-post.html?m=1

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी आपका ब्लॉग देखा। आपकी किताबें किंडल पर मौजूद हैं और वो पृष्ठ में जोड़ा ही गया है तो अलग से जोड़ने का कोई औचित्य नहीं है। इधर पाठको को ऐसे प्लेटफार्म देने की कोशिश की गयी हैं जहाँ वो ऑनलाइन रीडिंग भी कर सकें। आपकी पुस्तकों के लिए शुभकामनाएँ।

      Delete
  2. आपकी सारी रचनाये बहुत ही सुन्दर है ।

    ReplyDelete
  3. किताबें तो बेहतरीन हैं लेकिन मैं कामसूत्र की किताब देख रहा था जिसकी मुझे असली कॉपी चाहिये। उसका क्या price होगा इंडियन बाजार में कृपया बताइए?

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी,ये तो आपको खुद ही तलाश करना होगा....असली copy और नकली copy का फर्क आप कैसे करेंगे?

      Delete

Disclaimer:

Vikas' Book Journal is a participant in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for sites to earn advertising fees by advertising and linking to Amazon.com or amazon.in.

लोकप्रिय पोस्ट्स