डिस्क्लेमर

This post contains affiliate links. If you use these links to buy something we may earn a commission. Thanks.

Monday, May 24, 2021

बुक कैफ़े प्रकाशन का नया सेट प्री आर्डर के लिए तैयार

बुक कैफ़े प्रकाशन के नये सेट की प्री आर्डर की घोषणा हो चुकी है। बुक कैफ़े प्रकाशन की स्थापना लेखक अमित खान द्वारा की गयी है। उन्होंने शुरुआत में इस प्रकाशन के माध्यम से अपने पुराने आउट ऑफ़ प्रिंट हो चुके उपन्यासों को पाठकों तक पहुँचाया था लेकिन अब अन्य उपन्यासकारों के उपन्यास भी यहाँ से प्रकाशित होते आ रहे हैं।

बुक कैफ़े प्रकाशन का नया सेट प्रीआर्डर के लिए तैयार


बुक कैफ़े प्रकाशन के नये आने वाले सेट  में चार उपन्यास प्रकाशित किये जा रहे हैं। इन उपन्यासों में दो उपन्यास लेखक अमित खान के हैं और एक उपन्यास प्रेम एस गुर्जर का और एक उपन्यास लेखक विक्रम ई दीवान का है।  यह उपन्यास निम्न हैं:

छापामार - अमित खान

छापामार गॉड फादर श्रृंखला का दूसरा उपन्यास है। अमित खान की गॉड फादर श्रृंखला अंडरवर्ल्ड को केंद्र में लेकर लिखी गयी है। 

गॉड फादर यानी बख्तावर सिंह का अपराध को देखने का अलग नजरिया है। उसका अपराध देखने का अलग नजरिया है। वह जानता  कि दुनिया की कोई भी सकरार अपराध रोकने में सक्षम नहीं हो सकती है। वह अपराध की दुनिया के चक्रव्यूह को भेद चुका है और अब  मजलूमों के लिए लड़ना चाहता है।

इससे पहले इसी श्रृंखला का बवंडर उपन्यास प्रकाशित हो चुका है। 

7 दिन का अभियान - अमित खान 

कमाण्डर करण सक्सेना भारतीय इंटेलिजेंस एजेंसी रॉ का नम्बर वन एजेंट है। यह अमित खान के सबसे मकबूल पात्रों में से भी एक है। बुक कैफ़े अपने इस नवीनतम सेट में अमित खान पाठकों के लिए कमाण्डर करण सक्सेना का नया कारनामा सात दिन का अभियान भी लेकर आये हैं। 

किताब परिचय:

गोल्डी को ब्लैकमेलर की ताकीद थी कि वह सात दिन में मुकाबले से अपना नाम वापिस ले ले। अगर वह ऐसा नहीं करता तो वह उसके सारे राज उजागर कर देगा। ऐसे में जब वह करण सक्सेना के समक्ष अपनी परेशानी रखी तो उसने उसकी मदद करने का फैसला कर लिया।

आखिर गोल्डी को कौन ब्लैकमेल कर रहा था? क्या कमाण्डर सक्सेना उसकी मदद कर पाया?

दूसरी दुनिया - प्रेम एस गुर्जर

दूसरी दुनिया लेखक प्रेम एस गुर्जर का लिखा हुआ नवीनतम उपन्यास है। उनका यह उपन्यास एक लेखक की बॉलीवुड की दुनिया में संघर्ष की दस्तान है। अक्सर हम जब बॉलीवुड के विषय में सोचते हैं तो अभिनेताओं, अभिनेत्रियों या निर्देशकों तक ही सोच पाते हैं। जिन लेखकों की कहानियों पर यह फिल्में बनाई जाती हैं, जिन लेखकों के लिखे बोलों को हम गुनगुनाते रहते हैं उन्हें अक्सर न फिल्म के लोग तव्वजों देते हैं और न ही आम आदमी। ऐसे में उम्मीद है कि यह उपन्यास पाठकों को एक नये दृष्टिकोण से पाठकों  को रूबरू करवाएगा।

पहली वैमपायर - विक्रम ई दीवान

पहली वैम्पायर विक्रम ई दीवान के अंग्रेजी उपन्यास द फर्स्ट वैम्पायर का हिन्दी अनुवाद है। 

किताब परिचय:

यह 1818 ईस्वी है। भारत पर अभी भी अंग्रेजों की हुकुमत है। ब्रिटिश हुकुमत के मध्य प्रांत (आज के मध्य प्रदेश में ) में गाँव वाले खौफ के साये में है। कोई है जो गाँव वालों को मार रहा है। कोई ऐसा जिसे वो जीवित नहीं मानते हैं।  जब गाँव वाले हत्याओं को रुकने में सफल नहीं हो पाते हैं तो वो वहाँ से बड़े साहब जोनाथन स्मिथ से सुरक्षा की विनती करते हैं। 

जोनाथन स्मिथ को गाँव वालों के अंधविश्वासों पर यकीन नहीं है और वह इस रहस्यमयी शिकारी को पकड़कर कर उसका शिकार करने का मन बना लेता है।

आर्लीन जोनाथन की मेहमान है जो कि भारत भारतीय लोगों और उनकी संस्कृति पर शोध करने आई है। जब उसे इस मिशन का पता लगता है तो वह भी इस रहस्यमयी शिकारी को शिकार करने की मुहीम में शामिल हो जाती है।

आखिर गाँव वालों को कौन मार रहा था? क्या वह सच में कोई अलौकिक शक्ति थी?
क्या जोनाथन स्मिथ उस रहस्यमयी जीव का शिकार कर पायेगा या इस बार शिकारी खुद शिकार हो जायेगा?

***********

तो यह हैं बुक कैफ़े द्वारा इस बार प्रकाशित की जा रही किताबें।

बुक कैफ़े प्रकाशन प्रीआर्डर करने पर अपनी इन चारों किताबों पर बीस प्रतिशत की छूट दे रही है। आप कितनी भी पुस्तकें मँगवा सकते हैं। हाँ, अगर आप तीन पुस्तकें तक मँगवाते हैं तो आपको 40 रूपये शिपिंग चार्ज वहन करना होगा। यानी एक पुस्तक मँगवाने पर 160 + 40 (शिपिंग चार्ज) रूपये, दो पुस्तकें  मँगवाने पर 320 + 40 (शिपिंग चार्ज) रूपये और तीन पुस्तकें मँगवाने पर 540 + 40 (शिपिंग चार्ज) रूपये देने होंगे।

वहीं चारों पुस्तक एक साथ मँगवाने पर  आपको प्रति पुस्तक 160 रूपये यानी कुल 640 रूपये ही देने होंगे और किताब आप तक मुफ्त पहुँचा दी जाएँगी।

आप पुस्तकों की कीमत +91-93722 57140 पर पे टीएम कर सकते हैं। आर्डर की कीमत अदा करने के बाद आप अपना पता ऊपर दिए नम्बर यानी +91-93722 57140 पर व्हाट्सएप्प कर सकते हैं। किताबें आप तक पहुँचा दी जाएँगी। बुक कैफ़े प्रकाशन से प्रकाशित दूसरी किताबें भी आप ऊपर दिए नम्बर से सम्पर्क स्थापित करके मँगवा सकते हैं।

तो आप इनमें से कौन सा उपन्यास पढ़ने के लिए उत्सुक हैं?

- विकास नैनवाल 'अंजान'

4 comments:

Disclaimer

This post contains affiliate links. If you use these links to buy something we may earn a commission. Thanks.

Disclaimer:

Ek Book Journal is a participant in the Amazon Services LLC Associates Program, an affiliate advertising program designed to provide a means for sites to earn advertising fees by advertising and linking to Amazon.com or amazon.in.

लोकप्रिय पोस्ट्स