फ्लाईड्रीम्स प्रकाशन के नये सेट की किताबें हैं प्रीबुकिंग के लिए तैयार

फ्लाईड्रीम्स प्रकाशन हमेशा अपने पाठकों के लिए कुछ नया लेकर आता है। उनकी टैग लाइन किताबें जरा हटके को वह अभी तक सार्थक सिद्ध करता आया है। इस बार भी अपनी किताबों के नये सेट में वह पाँच ऐसी किताबें लेकर आया है जो कि अपने विषय वस्तु के हिसाब से जरा हटके हैं। तो आइये देखते हैं यह कौन कौन सी किताबें हैं?

फ्लाईड्रीम्स के नये सेट की किताबें हैं प्री बुकिंग के लिए तैयार
फ्लाईड्रीम्स प्रकाशन के फेसबुक पृष्ठ से साभार

कोव 19 - अभिषेक जोशी

पृष्ठ: 176 | मूल्य: 175

कोव 19 अभिषेक जोशी का नवीनतम उपन्यास है। इससे पहले आखिरी प्रेम गीत लिखकर चर्चा में आये अभिषेक इस बार पाठकों के लिए एक बायो थ्रिलर लेकर आ रहे हैं। बायो थ्रिलर रोमांचकथाओं की उपश्रेणी है जिसका केंद्र में ऐसे रोगाणु होते हैं जिसके कारण दुनिया में तबाही मच जाती है। आजकल हम लोग भी ऐसे ही दुनिया में जी रहे हैं। कोविड से हम जूझ रहे हैं और इस उपन्यास का केंद्र भी यही कोविड है। रोमांचकथाओं के शौक़ीन लोगों के लिए यह किताब रोचक होनी चाहिए।

किताब परिचय: यूँ तो चमगादड़ चीन के वुहान में बिकने पहली दफा ही आये थे, मगर जिस तरह उन्हें बेचा गया, या यूँ कहें देखते ही देखते सारे ही बिक गए, सिर्फ एक इत्तेफ़ाक़ था या कोई साजिश। 

जिस तरह वायरस फैला, क्या ये सिर्फ एक बीमारी हैं या कोई बायो-वेपन? 

सीआईए, रॉ और दुनिया की जानी मानी सीक्रेट एजेंसीज़ क्या चाहतीं हैं?
अमेरिका और चीन की इसमें क्या भूमिका है, और क्यूँ थी सबकी नजर भारत पर?

नैंसी पार्कर; भावी उपराष्ट्रपति, इस पूरे मामले की जाँच चाहती है। 
नोर्बेर्ट; रोम में रहने वाला एक बूढ़ा, जिसे आत्महत्या करनी है। 
डॉ॰ सोलोमन; जिसके पास वैक्सीन बनाने का ठेका है।
इनमें से कोई तो है जो जानता है कोविड-19 का काला सच। 

माँ के अनपढ़े खत - प्रहलाद नारायण माथुर

पृष्ठ: 198 | मूल्य: 200

माँ के अनपढ़े खत प्रहलाद नारायण माथुर का नवीनतम उपन्यास है। रश्मि और हेमंत की जिंदगी में उस वक्त खुशियाँ आ जाती हैं जब उन्हें पता लगता है कि वह एक बच्चे के माँ बाप बनने वाले हैं। इसी वक्त रश्मि भी फैसला करती है। फैसला कि वह अपने होने वाले बेटे के नाम खत लिखा करेगी जिन्हें वह उसे तब देगी जब वह बढ़ा हो जाएगा। 

आखिर रश्मि के उन खतों में क्या था? खतों में पढ़ने के बाद उसके बेटे की क्या प्रतिक्रिया रही?

जहरीली - हादी हसन 

पृष्ठ: 310 | मूल्य: 250

हादी हसन लेखन क्षेत्र में काफी दशकों से सक्रिय हैं। उन्होंने विक्की आनन्द के लेखकीय नाम से कई उपन्यास लिखे हैं। अब फ्लाईड्रीम्स पब्लिकेशन से वह पहली बार अपने नाम से प्रकाशित हो रहे हैं। 

किताब परिचय: अपने प्यार को पाने का उसके पास केवल एक ही रास्ता था, सायनाइड। ऐसा तेज जहर जिसका स्वाद कोई नहीं जानता। क्योंकि उसे चखने वाला, उसका स्वाद बताने के लिए जिंदा ही नहीं रहा। 

लेकिन उसे मालूम था कि ऐसा करते ही वह कानून का मुजरिम बन जाएगा। फिर भी उसने वह रास्ता अपनाया। प्यार में अंधा जो हो गया था। इसलिए अपने इंस्पेक्टर दोस्त की आड़ में उसने वह चाल चली, जो थी बड़ी- जहरीली।

नागलैण्ड - विकास भान्ती 

पृष्ठ: 178 | मूल्य: 175

नागलैंड विकास भान्ती का नवीतनम उपन्यास है। वह हमेशा ही पाठकों के समक्ष नये नये कथानक लेते आते रहे हैं। इससे पहले फ्लाईड्रीम्स प्रकाशन से उनका उपन्यास किन्चुलका आया था जो कि मिथिको को लेकर बुनी हुई थी। इस बार भी एक नवीन कथानक लेकर वह आपके समक्ष आये हैं। 

यह भी पढ़ें: पुस्तक अंश: पढ़िए विकास भान्ती के उपन्यास किन्चुलिका का एक छोटा सा अंश

किताब परिचय: नागलैंड ऐसी जगह थी जहाँ भारत का नहीं बल्कि उनका कानून चलता था। यह पिञालियों का क्षेत्र था जिनकी 5000 साल पुरानी सभ्यता को बचाने के लिए भारत सरकार प्रतिबद्ध थी। लेकिन कोई था जो वहाँ जाना चाहता था। वह जाना ही नहीं चाहता था अपितु वहाँ से नागमणि चुराना चाहता था।

आखिर क्या था ये नागलैंड? आखिर कौन जाना चाहता था उधर?  और वह इस  नागमणि को क्यों पाना चाहते थे?

सिटी ऑफ़ इविल - दिलशाद अली

पृष्ठ: 220 | मूल्य: 200

सिटी ऑफ़ ईविल दिलशाद अली का पहला उपन्यास है। यह उपन्यास एक फंतासी उपन्यास है जो कि सन 2025 के भारत में घटित होता है। अपने इस नव प्रकाशित उपन्यास में लेखक आपको चौथे आयाम में लेकर जा रहे हैं। 

किताब परिचय: वह भारत की पहली बुलेट ट्रेन थी। जब वह एक तरफ से सुरंग में घुसी तो दूसरी तरफ से बाहर ही नहीं निकली। लोगों हैरान थे कि आखिर पूरी ट्रेन एक सुंरग से कहाँ गायब हो गयी थी।

लेकिन वह ट्रेन गायब नहीं हुई थी। वह चौथे आयाम में मौजूद एक शहर में जा चुकी थी। ऐसे शहर में जहाँ मुर्दे जिंदा हो रहे थे। 

आखिर कैसे यह ट्रेन चौथे आयाम में पहुँच गयी थी?
क्या हुआ इस ट्रेन के यात्रियों का?  वह इन मुर्दों से खुद को कैसे बचा पाए?
क्या वो वापिस आ पाए?  


**************

तो यह हैं वह किताबें जो फ्लाईड्रीम्स प्रकाशन अपने नये सेट में आपके लिए लेकर आ रहा है। अगर आप इन पुस्तकों में रूचि रखते हैं और पूरे सेट को प्रीआर्डर करना चाहते हैं  तो प्रकाशन आपके लिए एक आकर्षक ऑफर भी लेकर आया है। 

अगर आप पच्चीस मई (25 मई) से पहले इस सेट को प्रीबुक करते हैं तो आपको 1000 रूपये कीमत की यह किताबें 35 प्रतिशत डिस्काउंट लगाकर सिर्फ 649 रूपये में प्राप्त हो सकती हैं।  वहीं अगर आप 25 मई के बाद इस सेट को प्रीबुक करते हैं तो आपको यह किताबें केवल 25 प्रतिशत के डिस्काउंट पर ही मिल पाएंगी। 

तो देर किस बात की है? निम्न लिंक पर जाकर अपने सेट को प्री बुक करें और आकर्षक डिस्काउंट पाएं:

फ्लाई ड्रीम्स प्रकाशन - प्री आर्डर

- विकास नैनवाल 'अंजान'

Post a Comment

2 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
  1. नमस्कार सर, आपने सारे नए उपन्यास को लेकर उत्सुकता बढ़ा दी... अब तो पढ़ने ही पढ़ेंगे।

    ReplyDelete

Top Post Ad

Below Post Ad