मिस्ड कॉल - अनिल मोहन

रेटिंग : ३/५
उपन्यास ९ जनवरी  २०१६ से १० जनवरी २०१६ के  बीच पढ़ा गया

संस्करण विवरण :
फॉर्मेट : पेपरबैक
पृष्ठ संख्या : २३४
प्रकाशक : राजा पॉकेट बुक्स
सीरीज : देवराज चौहान


पहला वाक्य :
आज की तारीख में रवि गावड़े मुंबई में ड्रग्स का बेताज बादशाह था।

देवराज चौहान ने रवि गावड़े की कभी मदद की थी और उसी मदद का नतीजा था कि आज रवि गावड़े मुंबई में ड्रग्स की दुनिया का बेताज बादशाह बन चुका था। इसी कारण रवि गावड़े देवराज चौहान को काफी मानता भी था। जब सारंगल ने रवि गावड़े के ४३८ करोड़ रुपयों में हाथ फेरने की कोशिश की तो रूपये तो उसने सरका दिए लेकिन आखिर वो रवि के छोटे भाई अतुल के हत्थे चढ़ ही गया।
लेकिन अतुल उससे पैसों का पता नहीं उगलवा सका। और उसे यकीन था कि सारंगल के साथी उसकी ज़बान बंद करने की भरपूर कोशिश करेंगे। अतुल ने ये बात जब रवि को बताई तो रवि ने उसे सलाह दी कि सारंगल को देवराज चौहान के पास तब तक के लिए छोड़ दिया जाए जब तक रवि इटली से वापस न आ जाये।
देवराज भी पुरानी दोस्ती के कारण इस बात के लिए राजी हो गया। लेकिन क्या वो सारंगल की जान को बचा पायेगा? क्या सच में सारंगल ने पैसे में हेरा फेरी की थी? और अगर की थी तो पैसों का क्या हुआ था?



मिस्ड कॉल देवराज चौहान सीरीज का उपन्यास है। उपन्यास मुझे पसंद आया क्योंकि कहानी जैसे जैसे बढती जा रही थी वैसे वैसे इसमें कई मोड़ आते गये जो अप्रत्याशित थे। ऐसे में कहानी में अंत तक मेरी रुचि बनी रही।

उपन्यास में अगर कुछ कमी है तो इसकी  भाषा जो कि मुंबईया नहीं लगती है। मुझे इसलिए पता है क्योंकि मैं मुंबई में कुछ वक्त बिता चुका हूँ और उधर बोले जाने वाली हिंदी से वाकिफ हूँ।

अंत में केवल इतना ही कहूँगा उपन्यास अच्छा है और इसे एक बार पढ़ा जा सकता है।

उपन्यास  आप  निम्न लिंक  से मंगवा सकते  हैं :
राजकॉमिक्स


Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad